अविनाश सचदेव और अदिति रावत ‘मैं भी अर्धांगिनी’ के प्रमोशन के लिए राजधानी पहुंचे

Bharattoday

लखनऊ, । ईमानदार रिश्ते और प्यार की ताकत की असाधारण कहानी है, एंड टीवी का नया फिक्शन शो ‘मैं भी अर्धांगिनी’। यह बातें बुधवार को शो का प्रमोशन करने राजधानी पहुंचे मुख्य कलाकार अविनाश सचदेव और अदिति रावत ने कही। उन्होंने बताया कि 21 जनवरी से शो का प्रसारण सोमवार से शुक्रवार रात 09ः30 बजे होगा।
अविनाश और अदिति ने बताया कि एस्सेल विजन प्रोडक्शंस के निर्माण में बना यह शो सच्चे प्यार की एक रोमांटिक कहानी है। इसमें एक अर्धांगिनी की ताकत को दर्शाया गया है, जिसमें वह अपनी मौत के बाद भी तमाम बुराइयों से अपने पति की रक्षा करती हैं। शो में अंजली प्रिया और दीपशिखा नागपाल जैसे टेलीविजन के पॉपुलर चेहरे भी शामिल हैं। धारावाहिक में चित्रा और वैदेही का सफर दिखाता है, जिसमें दोनों एक ही आदमी की रक्षा करने के लिए समर्पित रहती हैं, जिससे वो दोनों ही प्यार करती हैं।
यह कहानी माधव (अविनाश सचदेव) और उसकी बचपन की दोस्त वैदेही (अदिती रावत) की जिंदगी में झांकती है। वैदेही का मुख्य मकसद यह है कि वह माधव की पत्नी चित्रा (अंजली प्रिया) की दुखद मौत के बाद माधव की जिंदगी में खुशियां और प्यार वापस लेकर आए। यह शो प्रेम की पवित्रता भी दिखाएगा। अपने किरदार माधव के बारे में एक्टर अविनाश सचदेव ने बताया कि माधव एक नेक इंसान है, जो अपने दिल में किसी के प्रति कोई दुर्भावना नहीं रखता। वह शर्मीला और संकोची स्वभाव का है और बड़ों की इज्जत करता है। माधव अपनी मरी हुई पत्नी चित्रा की यादों और अपनी बचपन की दोस्त वैदेही से मिल रहे निस्वार्थ प्रेम के भंवर में उलझा है।

वैदेही का रोल निभा रहीं अदिति रावत ने कहा कि वैदेही एक सीधी-सादी जवान लड़की है। वो बहुत भोले स्वभाव की है, जो यह मानती है कि हर इंसान दिल का अच्छा होता है। वो माधव की जिंदगी में एक अहम भूमिका निभाती है और मैं इस रोल को लेकर बेहद उत्साहित हूं।
अपनी लखनऊ यात्रा के बारे में अदिति व अविनाश ने कहा कि नवाबों के शहर में हमलोगों की पहली यात्रा है और यहां आकर बेहद उत्साहित हैं। मुंह में पानी लाने वाले लजीज जायकेदार व्यंजनों से लेकर इस शहर की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत शहर के कोने-कोने की खूबसूरती बयां करती है।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर आधारित फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर पर हाईकोर्ट के इनकार को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती

Bharattoday

नई दिल्ली,। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर आधारित फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के ट्रेलर और फिल्म के रिलीज पर रोक लगाने से इनकार करने के दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ फैशन डिजाइनर पूनम महाजन ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है।

आज ही दिल्ली हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने फिल्म और उसके ट्रेलर पर रोक लगाने से इनकार कर दिया। जस्टिस एस मुरलीधर और जस्टिस संजीव नरूला की बेंच ने कहा कि इस मामले में प्रभवित लोग ही याचिका दाखिल करने का अधिकार रखते हैं, ये जनहित से जुड़ा हुआ मामला नहीं है।

याचिकाकर्ता ने हाईकोर्ट की सिंगल बेंच के फैसले के खिलाफ डिवीजन बेंच में याचिका दायर की थी। पिछले 7 जनवरी को सिंगल बेंच ने याचिका खारिज कर दी थी।

याचिका में कहा गया था कि इस फिल्म में मनमोहन सिंह की छवि को गलत तरीके से पेश किया गया है और ये उनकी छवि को धूमिल करने की कोशिश है। याचिका में कहा गया था कि ट्रेलर में सिनेमेटोग्राफी एक्ट के नियम 38 का उल्लंघन किया गया है। याचिका में कहा गया था कि इस फिल्म के ट्रेलर की वजह से दूसरे देशों से संबंध खराब हो रहे हैं और ये देश की सार्वभौमिकता और अखंडता पर असर डाल रहा है। इस याचिका में यूट्यूब और केंद्र सरकार को पक्षकार बनाया गया था।

द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर फिल्म मनमोहन सिंह के पूर्व मीडिया सलाहकार संजय बारू की किताब पर आधारित है। इस फिल्म में अनुपम खेर ने मनमोहन सिंह का किरदार निभाया है। अक्षय खन्ना संजय बारू के किरदार में हैं और दिव्या सेठ शाह फिल्म में मनमोहन सिंह की पत्नी गुरशरण कौर की भूमिका में नजर आएंगी। फिल्म का निर्देशन विजय रत्नाकर गुट्टे ने किया है। यह फिल्म 11 जनवरी को रिलीज होने वाली है। डा. मनमोहन सिंह साल 2004 से लेकर 2014 तक देश के प्रधानमंत्री रहे हैं।

इन्होने भी लगाया आरोप ! आलोक नाथ ने मेरे साथ भी कुछ करने की कोशिश की थी

Bharattoday

झांसी, 26 दिसम्बर । श्री सरकार फिल्म प्रोडक्शन के निजी कार्यक्रम में क्राइम पेट्रोल के कलाकार गुलशन पाण्डेय के साथ शिरकत करने आई अभिनेत्री हिमानी शिवपुरी ने अभिनेता आलोकनाथ पर सवाल खड़े कर दिए। उन्होंने कहा कि महिलाएं बड़ी मुश्किल से आगे आती हैं, अपनी व्यथा सुनाने के लिए।
बुधवार दोपहर बाद एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंची हिमानी शिवपुरी ने कहा कि जब उन्होंने मी टू पीड़िता के बारे में फेसबुक पर पढ़ा तो वह शॉक्ड हो गई। उस दौरान उन्हें अपने पुराने दिन याद आ गए। जब आलोक नाथ ने उनके साथ भी कुछ करने की कोशिश की थी। उस दौरान वह राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय में अध्ययनरत थी। लेकिन वह सफल नहीं हो सके थे क्योंकि वह थोड़ा चिल्ला-बिल्ला पड़ी थी। उनकी चिल्लाहट पर कई और लोग वहां एकत्र हो गए थे। उन्होंने कहा कि मी टू मूवमेंट के माध्यम से हमारे देश में भी महिलाएं सक्रिय हुई और इसकी वजह से अक्षय कुमार और कई कलाकारों ने ऐसे लोगों के साथ काम करने से मना तक कर दिया।
इंडस्ट्री में नहीं होना चाहिए दुरुपयोग

अभिनेत्री हिमानी शिवपुरी ने मी टू के दुरुपयोग को गलत बताते हुए कहा कि यह बात अलग है कि इंडस्ट्री में इसका दुरुपयोग नहीं होना चाहिए। जिन के साथ अत्याचार हुआ, जो बोल नहीं पाती क्योंकि होता तो है। हमारी इंडस्ट्री में ही नहीं बल्कि हर जगह जहां भी महिला घर से बाहर निकलती है, उसको छींटाकसी से लेकर तमाम शोषण का सामना करना पड़ता है। क्योंकि आदमी अपने पॉवर का इस्तेमाल करते हुए नारी का शोषण करते हैं।

किसी अन्य मुल्क में होते तो नसीरुद्दीन शाह को हो जाती जेल

नसीरुद्दीन शाह के बयान पर बोली कि हमारे देश में इतनी बयानबाजी हो रही है कि कोई भी कुछ भी कह देता है, जो गलत है। उन्होंने कहा कि माहौल बनता बिगड़ता है। किसी और मुल्क में ऐसा बयान देते तो उनको जेल हो जाती। हालांकि मैं उनकी बहुत इज्जत करती हूं। हमारे देश में तो मुगल,अंग्रेज,पुर्तगाली आदि सभी का स्वागत किया है। हमारे देश की संस्कृति ही ऐसी है। सभी का स्वागत किया जाता है। हो सकता है उन्हें डर लगा हो। पाकिस्तान जाने के मामले में उन्होंने कहा कि वह बड़े कलाकार हैं,उनके लिए वह ऐसा नहीं सोच सकतीं।
उन्होंने कहा कि कुछ लोग तो बयान ही हाई लाईट होने के लिए देते हैं। मेरा बेटा तो मुंबई में है,उसे तो कोई डर नहीं और मुझे भी कोई डर नहीं लगता। यह उनका अपना मानना हो सकता है। पर भारत से ज्यादा सुरक्षित और कहीं हम महसूस ही नहीं कर सकते। मीडिया में छाए रहने के लिए कुछ लोग बयानबाजी करते रहते हैं। कहा कि यदि मैं सीधी सादी जिन्दगी बिताऊं तो आप तो हमारे पास आएंगे ही नहीं। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड के कलाकारों को बड़े प्लेटफार्म पर ले जाने का प्रयास किया जाएगा।

भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता रविकिशन ने किया अपनी फिल्म डीसेंट बॉयज का प्रमोशन

Bharattoday

लखनऊ, 04 दिसम्बर । भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता रविकिशन ने कहा कि वे लखनऊ की जनता से चाहते हैं कि वह उनकी आगामी फिल्म डीसेंट बॉयज को देखे। फिल्म की कहानी शिक्षा माफिया के खिलाफ लड़ाई लड़ते हुए एक व्यक्ति की है।
अपनी फिल्म डीसेंट बॉयज का प्रमोशन करने आए रविकिशन ने मंगलवार को यहां एक होटल में मीडिया से बातचीत की। उन्होंने कहा कि उनकी अगली फिल्म में शिक्षा माफिया के खिलाफ लड़ाई दिखायी जाएगी।
इसमें हिन्दी माध्यम से स्कूल को अंग्रेजी माध्यम का बनाने का लक्ष्य लेकर कई तरीके अपनाते हुए दर्शाये गये हैं। इसमें अंग्रेजी माध्यम का स्कूल पाने के लिए मंत्री से रिश्तेदारी जोड़ने की कहानी दिखायी देगी।
उन्होंने कहा कि फिल्म की कहानी में रोमांच बना रहेगा। फिल्म के किरदार अपनी भूमिका में बेहद परिपक्व अभिनय करते हुए नजर आएंगे। यैलो एंड रेड म्यूजिक फिल्म के बैनर तले सभी ने अपनी भूमिका निभायी है।
उन्होंने कहा कि निर्माता शाहाद इलाहाबाद की यह दूसरी फिल्म है। इनके अलावा पुष्पेन्द्र मलिक भी निर्माता हैं। राजन मोदी, ध्रुव मलिक, मंजूल, रोहित मिश्रा जैसे कलाकार फिल्म में नजर आएंगे। फिल्म की अधिकांश शूटिंग उन्नाव जिले के आसपास हुई है। इस फिल्म को अप्रैल 2019 में थियेटर में देखा जा सकेगा।
इस अवसर पर निर्माता शाहाद ने सुपरस्टार रविकिशन की फिल्म निर्माण में उनकी अहम भूमिका निभाने के लिए सराहना की। शाहाद ने कहा कि रविकिशन फिल्म के दौरान कलाकारों को हौसला बढ़ाते रहे और ​अब फिल्म का प्रमोशन करने में जुटे हैं।

भोजपुरी गायक पवन सिंह के कार्यक्रम में भीड़ ने जमकर हंगामा काटा और तोड़फोड़ की

Bharattoday

लखनऊ, 02 दिसम्बर । सांस्कृतिक कार्यक्रमों से सजे लखनऊ महोत्सव में शनिवार की देर रात को भोजपुरी गायक पवन सिंह का कार्यक्रम होना था। पवन सिंह को सुनने के लिए उमड़ी भीड़ ने मंच के पास पहुंचने की कोशिश की तो पुलिस ने उसे रोका, लेकिन भीड़ पुलिस से ही भिड़ गयी। इसमें पुलिस ने लाठी भांजी और जिससे आधा दर्जन लोग घायल हो गए। गुस्साई भीड़ ने पंडाल का पर्दा तक फाड़ दिया।
लखनऊ महोत्सव में शनिवार की रात को भोजपुरी गायक पवन सिंह का कार्यक्रम था। देर रात 11 बजे के बाद जब पवन का मंच पर पहुंचना हुआ तो इतने में भोजपुरी गायक को देखते ही भीड़ मंच की ओर बढ़ने लगी, जबकि पंडाल पूरी तरह से भरा हुआ था। सुरक्षा में लगे पुलिस के जवानों ने भीड़ को रोकना चाहा लेकिन भीड़ में मौजूद लोगों ने धक्का-मुक्की शुरू कर दी और पंडाल के एक ओर लगे पर्दे को फाड़ दिया। इससे पुलिसकर्मियों ने उनपर लाठी भांजी, जिससे आधा दर्जन लोग घायल हो गए।
कार्यक्रम के समाप्त होने के बाद रात दो बजे तक हंगामा चलता रहा। वापस जा रही भीड़ ने जमकर हंगामा काटा और तोड़फोड़ की। देर रात तक पुलिसकर्मियों से अभद्रता की गयी और पंडाल में आईं लड़कियों को भी अपशब्द कहे गये। इसके बाद भीड़ का कार्यक्रम स्थल स्मृति उपवन के बाहर निकलने पर सड़क जाम की स्थिति पैदा हो गयी। पैदल भीड़ के निकलने तक ऐसी स्थिति बनी रही। लगभग दो घंटे के बाद रविवार की भोर में जाम समाप्त हो पाया।
फेल साबित हुआ सुरक्षा तंत्र
लखनऊ महोत्सव में हर जगह पर पुलिस का घेरा फेल साबित होता हुआ दिखायी पड़ा। पुलिस के सुरक्षा तंत्र के फेल होने के पीछे भीड़ का बेकाबु होना हो सकता है या फिर पवन सिंह को सुनने आने वालों की संख्या पंडाल की क्षमता से ज्यादा होना, लेकिन इस दौरान भीड़ ने जमकर हंगामा, तोड़फोड़ और अभद्रता किया, जिसे रोकने में पुलिसकर्मी फेल रहे।

खेसारी लाल यादव मंच पर देर से पहुंचे तो, भीड़ हुई बेकाबू जमकर चले ईंट-पत्थर

Bharattoday

बाराबंकी, 27 नवम्बर । उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में रामपुर महोत्सव में आयोजित भोजपुरी अभिनेता खेसारी लाल यादव के कार्यक्रम में सोमवार देर रात उग्र हुई भीड़ ने ईंट पत्थर चला दिए। बेकाबू हुई भीड़ को शांत कराने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया।
बाराबंकी में चल रहे रामपुर महोत्सव में सोमवार की रात भोजपुरी सुपरस्टार और सिंगर खेसारी लाल यादव का कार्यक्रम था। खेसारी लाल यादव मंच पर देर से पहुंचे तो भीड़ बेकाबू हो गयी। पंडाल में मौजूद भीड़ ने हंगामा शुरु कर दिया। इतना ही नहीं गुस्साई भीड़ ने भोजपुरी कलाकार पर भी ईंट-पत्थर चलाना शुरू कर दिया। खेसारी भीड़ से पत्थर न चलाने की अपील करते रहे, लेकिन लोग नहीं माने। इसके बाद अभिनेता खेसारी लाल यादव ने कार्यक्रम करने से ही साफ मना कर दिया। पुलिस ने बेकाबू भीड़ को शांत कराने के लिए लाठी चार्ज कर दिया।
पत्थरबाजी और लाठीचार्ज में किसी का सिर फूटा तो किसी के पैर में चोट आई। गुस्साई भीड़ ने कार्यक्रम की बैरिकेडिंग, कुर्सियां तोड़ डालीं और बल्लियां उखाड़ दीं। भीड़ का गुस्सा देखकर कार्यक्रम में मौजूद स्थानीय विधायक उपेंद्र रावत भी वहां से निकल गए। इससे पहले कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, शिक्षा राज्य मंत्री संदीप सिंह, सांसद प्रियंका सिंह रावत, विधायक बैजनाथ रावत वहां से निकल चुके थे।