कानपुर : वाहन चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

Bharat Today

कानपुर, । शहर के साथ ही अन्य जनपदों से वाहन चोरी करने वाले गिरोह का पुलिस ने खुलासा करते हुए चार शातिरों की गिरफ्तारी की है। गिरफ्तार किये गये वाहन चोरों के गिरोह के तार नेपाल से जुड़े होने की बात सामने आयी है।
नौबस्ता इंस्पेक्टर समर बहादुर सिंह ने मंगलवार को प्रेस वार्ता कर वाहन चोरों के गिरोह का खुलासा किया। पुलिस ने गिरफ्तार किये गये वाहन चोरों के पास से चोरी की छह बाइक सहित एक देसी तमंचा और पांच मोबाइल, मास्टर चाबी, रेती, हथौड़ी, मेन स्विच लाक व पेचकस बरामद किये हैं। बताया गया कि गिरोह के लोग नेशनल हाइवे पर सक्रिय रहते हैं। मौका मिलते ही हाईवे किनारे से वाहन चोरी करने के बाद उन्नाव से होते हुए नेपाल पहुंचते थे और वहां के गिरोह के लोगों को बेहद ही कम कीमत में चोरी के वाहन बेच देते थे।
गिरफ्तार किये गये वाहन चोरों में सभी उन्नाव के रहने वाले है, जिसमें योगेन्द्र उर्फ योगी, राजेश, नागेन्द्र यादव और रामबाबू शामिल है। ये सभी पहले भी वाहन चोरी के मामले में जेल भी जा चुके हैं। चोरी के वाहनों से ये लोग मोबाइल लूट की घटनाओं को भी अंजाम देते थे। जिसके चलते तमाम घटनाओं में सीसीटीवी फुटेज होने के बावजूद यह लोग पकड़ में नहीं आ पाते थे।
इंस्पेक्टर ने बताया इस गिरोह में कई अन्य लोग शामिल हैं। जिनकी जानकारी जुटाई जा रही है और जल्द ही उन्हे भी सलाखों के पीछे पहुंचा दिया जाएगा।

अय्याशी के अड्डे का भंडाफोड़ ,होटल के कमरों में लड़के और लड़कियों मिले आपत्तिजनक हालत में

Bharat Today

कानपुर, । उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में पुलिस ने सोमवार को एक होटल में छापेमारी कर कई युवक-युवतियों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ा। पकड़े गये आठ जोड़ों से पुलिस पूछताछ कर रही है। जबकि मामले में मैनेजर-कर्मचारी सहित ग्यारह लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।
कलक्टरगंज पुलिस उपाधीक्षक श्वेता यादव कई थानों की पुलिस बल के साथ हरबंश मोहाल के सुतरखाना इलाके में स्थित बीडी होटल में छापेमारी करने पहुंची। पुलिस बल की कई गाड़ियों व कर्मियों को देख इलाके में हड़कम्प मच गया। पुलिस ने कार्यवाही के दौरान होटल के कमरों से आपत्तिजनक हालत में कई युवक-युवतियों को रंगे हाथों पकड़ लिया।
होटल में बिना पहचान पत्र के लोगों को ठहराये जाने की बात रजिस्टर की जांच में सामने आया है। इस कार्यवाही में पुलिस ने होटल के मैनेजर व दो कर्मचारियों समेत ग्यारह लोगों को गिरफ्तार कर लिया। जबकि हिरासत में लिये गये जोड़ों को थाने लाकर पूछताछ की गई।
कार्यवाही को लेकर कलक्टरगंज पुलिस उपाधीक्षक श्वेता यादव ने बताया कि पुलिस को कई दिनों से सूचना मिल रही थी कि होटल में गलत तरीके से लड़के और लड़कियां आकर होटल में अय्याशी करते हैं। सूचना के आधार पर पुलिस ने अचानक होटल में छापा मारा और होटल के 12 कमरों से आठ कमरों में केवल लड़के और लड़कियों को साथ पकड़ा गया है। जिन्हें पुलिस ने पकड़ कर थाने ले आई है।
पुलिस ने बताया कि होटल के रजिस्टर को भी चेक किया जा रहा है। अगर रजिस्टर में नाम नहीं मिले तो होटल प्रशासन के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। सभी लड़कियों के परिजनों को भी बुलाया गया है और उनकी आईडी भी चेक की जा रही है। अगर कोई लड़की नाबालिग मिलती है तो उसके साथ आये लड़के के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। फिलहाल होटल में जांच पूरी होने तक सील कर दिया गया है।

इनकी हुई गिरफ्तारी
रायबरेली निवासी नकुल यादव, पश्चिम बंगाल का रंजीत कुमार, कानपुर के नवाबगंज का मो. आसिफ, रायपुरवा का सरन कुमार, दलेलपुरवा का रिहान, बादशाहीनाका का अमित केसरवानी, मेस्टन रोड निवासी दानिश खान, चकेरी का सहजाते आलम, आफताब, ग्वालियर का शिवनाथ व फतेहरपुर निवासी रहवरउल्ला हैं।

सड़क पर आने जाने वाले वाहनों को रोककर स्मार्ट वेशभूषा में वसूली कर रही नौ लड़कीयो को भेजा जेल

Bharat Today

बेगूसराय,। बेगूसराय पुलिस ने सड़क पर अवैध रूप से वसूली कर रही गुजरात की नौ लड़कियों को गिरफ्तार किया है। तेघड़ा थाना द्वारा बरौनी केलाबाड़ी के समीप से शनिवार की देर शाम गिरफ्तार लड़कियों को पूछताछ के बाद आज जेल भेज दिया गया है। गिरफ्तार लड़कियां गुजरात के माल्या जिला के ओधव निवासी सुनीता कन्हु, कोमल बरोट, कंचन बरोट, पूजा बरोट, ज्योति बारौठ, कंचन बरौट, नीतू बारौट, कंचन बरोट एवं सिमा बारौट बताया है। तेघड़ा डीएसपी ने बताया कि आपदा के नाम पर जबरन चंदा वसूल कर रही सभी नौ लड़कियों को पूछताछ के बाद जेल भेज दिया गया है।
बता दें कि शनिवार की शाम पुलिस को सूचना मिली थी बरौनी-तेघड़ा मुख्य पथ पर केलाबाड़ी के समीप स्मार्ट वेशभूषा में नौ लड़की सड़क पर आने जाने वाले वाहनों को रोककर वसूली कर रही है। सूचना देने वालों का कहना था कि यह लड़कियां वाहन चालकों से पुलिस विभाग के होने का रौब दिखा कर पैसा वसूल रही थी। सूचना के बाद पहुंचे सीओ एवं थानाध्यक्ष के नेतृत्व में सभी को हिरासत में लेकर थाना लाया गया। इन लोगों का कहना था कि वे गुजरात से आई हैं और आपदा पीड़ित हैं। आपदा के बाद पारिवारिक हालत दयनीय हो गई। गरीब परिवार का रहने के कारण घूम-घूम कर चंदा कर रही हैं । लेकिन भाषा और भेषभूषा से ये लोग कहीं से भी पीड़ित नहीं दिख रही थी और स्मार्ट तरीके से सड़क पर वसूली कर रही थी। फिलहाल सभी को न्यायिक दंडाधिकारी के यहां उपस्थित करवा कर जेल भेज दिया गया है।

दो बदमाशों से पुलिस की मुठभेड़ ,एक बदमाश को धर दबोचा, दूसरा भाग निकला

Bharat Today

कानपुर,। महाराजगंज थानाक्षेत्र में लूट के इरादे से नेशनल हाइवे में खड़े दो बदमाशों से शनिवार को भोर पुलिस की मुठभेड़ हो गई। दोनों ओर से गोली चली और पुलिस ने एक बदमाश को धर दबोचा, जबकि दूसरा फायर करता हुआ खेतों की ओर से भाग निकला। इसकी तलाश में लगी पुलिस टीम का कहना है कि जल्द ही भागे हुए बदमाश को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
महाराजगंज थानाध्यक्ष रवि त्रिपाठी ने बताया कि शनिवार को भोर फोर्स के साथ नेशनल हाइवे में गश्त कर रहे थे। पुलिस की गाड़ी महाराजपुर से फतेहपुर की ओर जा रही थी। तभी नर्वल मोड़ के पास एक कार दिखी। इसकी लाइट बंद थी। इस पर पुलिस को शक हुआ। जब वह कार सवार लोगों से पूछताछ करने के लिए आगे बढ़ी तो उन्होंने भागने का प्रयास किया और पुलिस टीम पर फायर किया। पुलिस ने इसके जवाब में फायर करते हुए बदमाश को धर दबोचा गया। जबकि उसका साथी फरार होने में सफल रहा। मौके से एक तमंचा व तीन कारतूस बरामद हुए। इसके साथ ही बदमाशों की कार को भी बरामद कर लिया गया है।
पूछताछ में उसने अपना नाम अंशू ठाकुर उर्फ अमन बताया जो पनकी के कांशीराम कॉलोनी निवासी है। इसके खिलाफ कई थानों में मुकदमें दर्ज हैं, वहीं भागे हुए बदमाश का नाम आकाश है जो नौबस्ता का रहने वाला है। अंशू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जा रहा है और भागे हुए बदमाश की तलाश की जा रही है।